Gau Mata Ki Aarti गौ माता की आरती

Gau Mata Ki Aarti गौ माता की आरती – धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गौ माता की आराधना और स्तुति करना अत्यंत ही शुभ होता है.

आज हम गौ माता के दो आरतियों का प्रकाशन लिरिक्स, विडियो और Mp3 के साथ कर रहें हैं. आप किसी भी आरती के द्वारा गौ माता की आराधना कर सकतें हैं.

भगवान श्री कृष्ण की आराधना करें Aarti Balkrishna Ki Kije आरती बालकृष्ण की कीजै

Gau Mata Ki Aarti गौ माता की आरती

|| गौ माता की आरती ||

ॐ जय जय गौमाता, मैया जय जय गौमाता |
जो कोई तुमको ध्याता, त्रिभुवन सुख पाता ||
मैया जय जय गौमाता ………………

सुख समृद्धि प्रदायनी, गौ की कृपा मिले |
जो करे गौ की सेवा, पल में विपत्ति टले ||
मैया जय जय गौमाता ………………

आयु ओज विकासिनी, जन जन की माई |
शत्रु मित्र सुत जाने, सब की सुख दाई ||
मैया जय जय गौमाता ………………

सुर सौभाग्य विधायिनी, अमृती दुग्ध दियो |
अखिल विश्व नर नारी, शिव अभिषेक कियो ||
मैया जय जय गौमाता ………………

ममतामयी मन भाविनी, तुम ही जग माता |
जग की पालनहारी, कामधेनु माता ||
मैया जय जय गौमाता ………………

संकट रोग विनाशिनी, सुर महिमा गायी |
गौ शाला की सेवा, संतन मन भायी ||
मैया जय जय गौमाता ………………

गौ माँ की रक्षा हित, हरी अवतार लियो |
गौ पालक गौपाला, शुभ सन्देश दियो ||
मैया जय जय गौमाता ………………

श्री गौमात की आरती, जो कोई सुत गावे |
“पदम्” कहत वे तरणी, भव से तर जावे ||
मैया जय जय गौमाता ………………

श्री बांके बिहारी जी की स्तुति करें – Shri Banke Bihari Ji Ki Aarti श्री बांके बिहारी जी की आरती

Gau Mata Ki Aarti

|| गौ माता की आरती ||

आरती श्री गैया मैया की
आरती हरनि विश्वधैया की ||

अर्थकाम सद्धर्म प्रदायिनी,
अविचल अमल मुक्तिपद्दायिनी ||

सुर मानव सौभाग्याविधायिनी,
प्यारी पूज्य नन्द छैया की ||

अखिल विश्व प्रतिपालिनी माता,
मधुर अमिय दुग्धान्न प्रब्दाता ||

रोग शोक संकट परित्राता,
भवसागर हित दृढ़ नैया की ||

आयु ओज आरोग्यविकाशिनी,
दुःख दैन्य दारिद्रय विनाशिनी ||

सुष्मा सौख्य समृद्धि प्रकाशिनी,
विमल विवेक बुद्धि दैया की ||

सेवक हो चाहे दुखदाई,
सा पय सुधा पियावति माई ||

शत्रु-मित्र सबको सुखदायी,
स्नेह स्वभाव विश्व जैया की ||

आरती श्री गैया मैया की
आरती हरनि विश्वधैया की ||

अर्थकाम सद्धर्म प्रदायिनी,
अविचल अमल मुक्तिपद्दायिनी ||

सुर मानव सौभाग्याविधायिनी,
प्यारी पूज्य नन्द छैया की ||

अखिल विश्व प्रतिपालिनी माता,
मधुर अमिय दुग्धान्न प्रब्दाता ||

रोग शोक संकट परित्राता,
भवसागर हित दृढ़ नैया की ||

आयु ओज आरोग्यविकाशिनी,
दुःख दैन्य दारिद्रय विनाशिनी ||

सुष्मा सौख्य समृद्धि प्रकाशिनी,
विमल विवेक बुद्धि दैया की ||

सेवक हो चाहे दुखदाई,
सा पय सुधा पियावति माई ||

शत्रु-मित्र सबको सुखदायी,
स्नेह स्वभाव विश्व जैया की ||

अन्नपूर्णा माता की स्तुति करें – Annapurna Mata Ki Aarti अन्नपूर्णा माता की आरती

Gau Mata Ki Aarti Lyrics

Om Jai Jai Goumata, Maiya Jai Jai Goumata.
Jo Koi Tumko Dhyata, Tribhuvan Sukh Pata.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Sukh Samriddhi Pradayini, Gou Ki Kripa Mile.
Jo Kare Gou Ki Seva, Pal Me vipatti Tale.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Aayu Oj Vikasini, Jan Jan Ki Maayi.
Shatru Mitra Sut Jaane, Sab Ki Sukh Daayi.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Sur Soubhagya Vidhayini, Amriti Dugdh Diyo.
Akhil Vishwa Nar Naari, Shiv Abhishek Kiyo.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Mamtamayi Man Bhavini, Tum Hi Jag Mata.
Jag Ki Paalanhari, Kaamdhenu Mata.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Sankat Rog Vinashini, Sur Mahima Gaayi.
Gou Shala Ki Seva, Santan Man Bhayi.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Gou Maa Ki Raksha Hit, Hari Avtaar Liyo.
Gou Paalak Gopala, Shubh Sandesh Diyo.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Shri Goumat Ki Aarti, Jo Koi Sut Gaave.
Padam Kahat We Tarani, Bhav Se tar Jaawe.
Maiya Jai Jai Goumata ………………

Also read :


Ahoi Ashtami Ki Aarti

Aarti Shri Gaiya Maiya Ki Lyrics

Aarti Shri Gaiya Maiya Ki,
Aarti Harani Vishwadhaiya Ki.

Arthkam Sadharma Pradayini,
Avichal Amal Muktipardayini.

Sur Manav Soubhagyavidhayini,
Pyari Pujya Nand Chhaiya Ki.

Akhil Vishwa Pratipalini Mata,
Madhur Amiya Dugdhann Prabdata.

Rog Shok Sankat Paritrata,
Bhavsagar Hit Dridh Naiya Ki.

Aayu Oj Aarogyavikashini,
Dukh Dainya Daridrya Vinashini.

Sushma Sounkhya Samriddhi Prakashini,
Vimal Vivek Buddhi Daiya Ki.

Sevak Ho Chahe Dukhdaayi,
Sa Pay Sudha Piyavati Maayi.

Shatru Mitra Sabko Sukhdayi,
Sneh Swabhav Vishwa Jaiya Ki.

Aarti Shri Gaiya Maiya Ki,
Aarti Harani Vishwadhaiya Ki.

Arthkam Sadharma Pradayini,
Avichal Amal Muktipardayini.

Sur Manav Soubhagyavidhayini,
Pyari Pujya Nand Chhaiya Ki.

Akhil Vishwa Pratipalini Mata,
Madhur Amiya Dugdhann Prabdata.

Rog Shok Sankat Paritrata,
Bhavsagar Hit Dridh Naiya Ki.

Aayu Oj Aarogyavikashini,
Dukh Dainya Daridrya Vinashini.

Sushma Sounkhya Samriddhi Prakashini,
Vimal Vivek Buddhi Daiya Ki.

Sevak Ho Chahe Dukhdaayi,
Sa Pay Sudha Piyavati Maayi.

Shatru Mitra Sabko Sukhdayi,
Sneh Swabhav Vishwa Jaiya Ki.

Also read :


Jai Ambe Gauri Aarti Lyrics

Video

Gau Mata Ki Aarti

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी देखें –

Shiv Ji Ki Aarti शिव जी की आरती 

Aarti Karo Harihar ki आरती करो हरिहर की

Om Jai Ambe Gauri Aarti ॐ जय अम्बे गौरी आरती

Bhagwan Badrinath Ji Ki Aarti भगवान बद्रीनाथ जी की आरती


Ahoi Mata Ki Aarti अहोई माता की आरती

गौ माता के बारे में और जानकारी के लिए यहाँ दबाएँ.

Leave a Comment