Kushmanda Mata Ki Aarti

Kushmanda Mata Ki Aarti कुष्मांडा माता की आरती – नवरात्रि के चौथे दिन माँ दुर्गे की चौथी शक्ति कुष्मांडा माता की आराधना और स्तुति की जाती है.

सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ माता की आरती करें. कुष्मांडा माता को अस्टभुजा देवी भी कहा जाता है. माता के सात हाथों में क्रमशः कमंडल, धनुष, बाण, कमल-पुष्प, अमृतपूर्ण कलश, चक्र तथा गदा है। माता के आठवें हाथ में सभी सिद्धियों और निधियों को देने वाली जपमाला है। कुष्मांडा माता का वाहन सिंह है।

कुष्मांडा माता की आराधना के लिए निचे दिए गए मंत्रो का पाठ किया जा सकता है.

सुरासंपूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च।
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे ॥

इसके अलावा आप इस मंत्र का भी पाठ कर सकतें हैं.

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कूष्माण्डा रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

कुष्मांडा माता अपने भक्तो की रोगों और कष्टों से रक्षा करती है. माता सुख समृद्धि प्रदान करती है.

Kushmanda Mata Ki Aarti कुष्मांडा माता की आरती

|| कुष्मांडा माता की आरती ||

कूष्मांडा जय जग सुखदानी |
मुझ पर दया करो महारानी ||

पिगंला ज्वालामुखी निराली |
शाकंबरी माँ भोली भाली ||

लाखों नाम निराले तेरे |
भक्त कई मतवाले तेरे ||

भीमा पर्वत पर है डेरा |
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा ||

सबकी सुनती हो जगदंबे |
सुख पहुँचाती हो माँ अंबे ||

तेरे दर्शन का मैं प्यासा |
पूर्ण कर दो मेरी आशा ||

माँ के मन में ममता भारी |
क्यों ना सुनेगी अरज हमारी ||

तेरे दर पर किया है डेरा |
दूर करो माँ संकट मेरा ||

मेरे कारज पूरे कर दो |
मेरे तुम भंडारे भर दो ||

तेरा दास तुझे ही ध्याए |
भक्त तेरे दर शीश झुकाए ||

Kushmanda Mata Aarti Lyrics

Kushmanda Jai Jag Sukhdani.
Mujh Par Daya Karo Maharani.

Pingala Jwalamukhi Nirali.
Shakambari Maa Bholi Bhali.

Lakho Naam Nirale Tere.
Bhakt Kai Matwale Tere.

Bhima Parwat Par Hai Dera.
Swikaro Pranam Ye Mera.

Sabki Sunti Ho Jagdambe.
Sukh Pahunchati Ho Maa Ambe.

Tere Darshan Ka Main Pyasa.
Purn Kar Do Meri Aasha.

Maa Ke Man Me Mamta Bhari.
Kyon Na Sunegi Araj Hamari.

Tere Dar Par Kiya Hai Dera.
Dur Karo Maa Sankat Mera.

Mere Karaj Pure Kar Do.
Mere Tum Bhandare Bhar Do.

Tera Daas Tujhe Hi Dhyaaye.
Bhakt Tere Dar Shish Jhukaaye.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी देखें.

Om Jai Ambe Gauri Aarti ॐ जय अम्बे गौरी आरती

Shailputri Mata Ki Aarti – शैलपुत्री माता की आरती

Brahmacharini Mata Ki Aarti ब्रह्मचारिणी माता की आरती

Chandraghanta Mata Aarti चंद्रघंटा माता आरती

Durga Chalisa दुर्गा चालीसा

Jagdamba Mata Aarti जगदम्बा माता आरती

Aarti Jag Janani Main Teri Gaun आरती जग जननी मैं तेरी गाऊँ

Mangal Ki Seva Sun Meri Deva मंगल की सेवा सुन मेरी देवा

Durga Aarti दुर्गा आरती

Jay Adhya Shakti Aarti जय अध्य शक्ति आरती

कुष्मांडा माता के बारे में और जानकारी विकिपीडिया पेज पर उपलब्द्ध है. आप यहाँ क्लिक करके उसे देख सकतें हैं.

By Shri Sanjay Ji

All the post of this site are write and managed by Shri Sanjay Ji. इस साईट की सभी प्रकाशन श्री संजय जी के द्वारा लिखी और मैनेज की जाती है.