Radha Ji Ki Aarti राधा जी की आरती – जीवन सफल बनानेवाली

श्री राधा जी की स्तुति के लिए Radha Ji Ki Aarti राधा जी की आरती को सम्पूर्ण प्रेम और भक्ति के साथ करना अत्यंत ही उत्तम होता है.

आप Radha Chalisa का भी पाठ करें और श्री राधा जी की आरती भी अवस्य करें.

Radha Ji Ki Aarti राधा जी की आरती

Radha Ji Ki Aarti

|| राधा जी की आरती ||

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की …….

त्रिविध तापयुत संसृति नाशिनि,
विमल विवेक विराग विकासिनि |

पावन प्रभु पद प्रीति प्रकाशिनि,
सुन्दरतम छवि सुन्दरता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की …….

मुनि मन मोहन मोहन मोहनि,
मधुर मनोहर मूरती सोहनि |

अविरलप्रेम अमिय रस दोहनि,
प्रिय अति सदा सखी ललिता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की …….

संतत सेव्य सत मुनि जनकी,
आकर अमित दिव्यगुन गनकी |

आकर्षिणी कृष्ण तन मनकी,
अति अमूल्य सम्पति समता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की …….

कृष्णात्मिका, कृषण सहचारिणि,
चिन्मयवृन्दा विपिन विहारिणि |

जगज्जननि जग दुखनिवारिणि,
आदि अनादिशक्ति विभुता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की,
मंजुल मूर्ति मोहन ममता की | |

आरती श्री वृषभानुसुता की …….

विष्णु भगवान की स्तुति के लिए Om Jai Jagdish Hare Aarti ॐ जय जगदीश हरे आरती का गायन करते हुए श्री विष्णु भगवान की आरती करें.

Radha Aarti Lyrics

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki, Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

|| Shri Radha Aarti ||

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki ……..

Trividh Taapyukt Sansriti Naashini,
Vimal Vivek Virag Vikasini.

Paawan Prabhu Pad Priti Prakashini,
Sundartam Chhavi Sundarta Ki.

Get your FREE Domain For Life with our hosting plans.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki ……..

Muni Man Mohan Mohan Mohani,
Madhur Manohar Moorati Sohani.

Aviral Prem Amiya Ras Dohani,
Priya Ati Sada Sakhi Lalita Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki ……..

Santat Sevya Sat Muni JanKi,
Aakar Amit Divyagun Ganki.

Aakarshani Krishna Tan ManKi,
Ati Amulya Sampati Samta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki ……..

Krishnatimka, Krishan Sahcharini,
ChinmayVrinda Vipin Viharini.

Jagjjanani Jag Dukh Nivarini,
Aadi Anadishakti Vibhuta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki,
Manjul Murty Mohan Mamta Ki.

Aarti Shri Vrishbhanusuta Ki ……..

आप सब सम्पूर्ण भक्तिपूर्वक श्री राधा जी की स्तुति करें.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी देखें.

Shiv Ji Ki Aarti शिव जी की आरती

Om Jai Ambe Gauri Aarti ॐ जय अम्बे गौरी आरती

Jay Adhya Shakti Aarti जय आदि शक्ति आरती

Bhagwat Bhagwan Ki Aarti भगवत भगवान की आरती

Shri Banke Bihari Ji Ki Aarti श्री बांके बिहारी जी की आरती

Aarti Balkrishna Ki Kije आरती बालकृष्ण की कीजै

Om Jai Lakshmi Ramana Aarti ॐ जय लक्ष्मी रमणा आरती

Govardhan Aarti गोवर्धन आरती

राधा जी के बारे में और जानकारी आप विकिपीडिया से प्राप्त कर सकतें हैं. विकिपीडिया लिंक

Leave a Comment