Durga Aarti दुर्गा आरती

Durga Aarti दुर्गा आरती – माँ दुर्गा की आराधना और स्तुति करना हमेशा ही शुभ होता है. ख़ास कर के नवरात्री के दिनों में माँ दुर्गा की आराधना करने का अपना एक विशेष महत्व होता है.

आज के इस पोस्ट में हम माँ दुर्गा के कुछ प्रमुख आरतियों को प्रकाशित कर रहें हैं. कुछ आरतियाँ हमने अलग से प्रकाशित की हैं. इन आरतियों का लिंक दिया जा रहा है. आप माँ दुर्गा की उन प्रमुख आरतियों को भी अवस्य देखें.

माँ दुर्गा की आरती : Om Jai Ambe Gauri Aarti ॐ जय अम्बे गौरी आरती

Om Jai Ambe Gauri Aarti

Durga Aarti

Durga Aarti

|| माँ दुर्गा आरती ||

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।
भयहारिणी, भवतारिणी, भवभामिनि जय जय॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।
भयहारिणी, भवतारिणी, भवभामिनि जय जय॥

तू ही सत्-चित्-सुखमय, शुद्ध ब्रह्मरूपा।
सत्य सनातन, सुन्दर, पर-शिव सुर-भूपा॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

आदि अनादि, अनामय, अविचल, अविनाशी।
अमल, अनन्त, अगोचर, अज आनन्दराशी॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

अविकारी, अघहारी, सकल कलाधारी।
कर्ता विधि भर्ता हरि हर संहारकारी॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

तू विधिवधू, रमा, तू उमा महामाया।
मूल प्रकृति, विद्या तू, तू जननी जाया॥

राम, कृष्ण, तू सीता, ब्रजरानी राधा।
तू वाँछा कल्पद्रुम, हारिणि सब बाधा॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

दश विद्या, नव दुर्गा, नाना शस्त्रकरा।
अष्टमातृका, योगिनि, नव-नव रूप धरा॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

तू परधाम निवासिनि, महा-विलासिनि तू।
तू ही शमशान विहारिणि, ताण्डव लासिनि तू॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

सुर-मुनि मोहिनि सौम्या, तू शोभाधारा।
विवसन विकट सरुपा, प्रलयमयी धारा॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

तू ही स्नेहसुधामयी, तू अति गरलमना।
रत्नविभूषित तू ही, तू ही अस्थि तना॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

मूलाधार निवासिनि, इहपर सिद्धिप्रदे।
कालातीता काली, कमला तू वर दे॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

शक्ति शक्तिधर तू ही, नित्य अभेदमयी।
भेद प्रदर्शिनि वाणी विमले वेदत्रयी॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

हम अति दीन दुखी माँ, विपट जाल घेरे।
हैं कपूत अति कपटी, पर बालक तेरे॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

निज स्वभाववश जननी, दयादृष्टि कीजै।
करुणा कर करुणामयी, चरण शरण दीजै॥

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।
भयहारिणी, भवतारिणी, भवभामिनि जय जय॥

इसे भी देखें : Jay Adhya Shakti Aarti

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti
Durga Aarti

|| अम्बे तू है जगदम्बे काली ||

अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती…………..

तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।
दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥

सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ………….

माँ-बेटे का है इस जग मे बडा ही निर्मल नाता।
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥

सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली,
दुखियों के दुखडे निवारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती…………

नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना।
हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥

सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को सवांरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती……………

चरण शरण में खड़े तुम्हारी, ले पूजा की थाली।
वरद हस्त सर पर रख दो माँ संकट हरने वाली॥

माँ भर दो भक्ति रस प्याली, अष्ट भुजाओं वाली,
भक्तों के कारज तू ही सारती।।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती………….

इसे भी देखें : Ahoi Mata Ki Aarti अहोई माता की आरती

Durga Aarti Lyrics

Durga Aarti Lyrics

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.
Bhay Harini, Bhav Tarini, Bhav Bhamini Jai Jai.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.
Bhay Harini, Bhav Tarini, Bhav Bhamini Jai Jai.

Tu Hi Sat Chit SukhMay Shuddh Brahm Rupa.
Satya Sanatan, Sundar, Par- Shiv Sur Bhupa.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Aadi Anadi, Anamay, Avichal, Avinashi.
Amal, Anant, Agochar, Aj Aanand Rashi.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Avikari, Aghhari, Sakal Kaladhari.
Karta Vidhi Bharta Hari Har Sanharkari.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Tu Vidhi Vadhu, Rama, Tu Uma Mahamaya.
Mul Prakriti, Vidha Tu, Tu Janani Jaya.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Ram, Krishn, Tu Sita, Braj Rani Radha.
Tu Wancha Kalpadrum, Harini Sab Badha.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Dash Vidha, Nav Durga, Nana Shastrakara.
Asht Matrika, Yogini, Nav Nav Rup Dhara.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Tu Pardham Niwasini, Maha Wilasini Tu.
Tu Hi Shamshan Wiharini, Taandav Lasini Tu.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Sur Muni Mohini Saumya, Tu Shobhadhara.
Viwsan Vikat Sarupa, Pralaymayi Dhara.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Tu Hi Sneh Sudhamayi, Tu Ati Garalamna.
Ratn vibhusit Tu Hi, Tu Hi Asthi Tana.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Muladhar Niwasini, Ih Par Siddhi Prade.
Kalatita Kali, Kamla Tu Var De.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Shakti Shaktidhar Tu Hi, Nitya Abhedmayi.
Bhed Pradarshini Wani Vimle Vedtrayi.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Ham Ati Din Dukhi Maa, Vipat Jaal Ghere.
Hain Kaput Ati Kapati, Par Balak Tere.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Nij Swabhaw Vash Janani, Daya Drishti Kije.
Karuna Kar Karunamayi, Charan Sharan Dije.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.

Jag Janani Jai Jai Maa, Jag Janani Jai Jai.
Bhay Harini, Bhav Tarini, Bhav Bhamini Jai Jai.

Also read : Jai Ambe Gauri Aarti Lyrics

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti Lyrics

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali, Jai Durge Khappar Wali.
Tere Hi Gun Gaaven Bharati,
O Maiya Ham Sab Utaare Teri Aarti…………….

Tere Bhakt Jano Par Mata Bhir Padi Hai Bhari.
Daanav Dal Par Tut Pado Maa Karke Singh Savari.

Sau- Sau Sinho se Balshali, Hai Asht Bhujaaon Wali.
Dushton Ko Tu Hi Lalkarti.
O Maiya Ham Sab Utaare Teri Aarti………..

Maa- Bete Ka Hai Is Jag Me Bada Hi Nirmal Nata,
Put Kaput Sune Hai par Na Mata Suni Kumata.

Sab Pe Karuna Darshane Wali, Amrit Barsane Wali.
Dukhiyon Ke Dukhde Niwarati.
O Maiya Ham Sab Utare Teri Aarti………

Nahi Mangte Dhan aur Daulat, Na Chaandi Na Sona.
Ham To Mange Tere Charno Me Ek Chhota Sa Kona.

Sabki Bigdi Banane Wali, Laaj bachane Wali.
Satiyon Ke Sat ko Sanwarati.
O Maiya Ham Sab Utare Teri Aarti…………

Charan Sharan Me Khade Tumahari, Le Puja Ki Thali.
Warad Hast Sar Par Rakh Do Maa Sankat Harne Wali.

Maa Bhar Do Bhakti Ras Pyali, Asht Bhujaaon Wali,
Bhakto Ke Kaaraj Tu Hi Saarti.
O Maiya Ham Sab Utaare Teri Aarti……….

Also Read : Annapurna Aarti Lyrics

Durga Aarti Mp3 Audio

माँ दुर्गा की आरती Mp3 ऑडियो फाइल निचे दिया गया है. दुर्गा माता की आरती को सुनने के लिए आप Play बटन या फिर Listen in Browser को दबाएँ.

Durga Aarti
Durga Aarti
Ambe Tu Hai Jagdambe Kali
Durga Aarti Video
Maa Durga Aarti Video
Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Video

हमारे द्वारा प्रकाशित कुछ अन्य प्रकाशनों को लिस्ट निचे दी गयी है. आप इन्हें अवस्य देखें. इसके अलावा केटेगरी के माध्यम से भी आप हमारे प्रकाशनों को देख सकतें हैं.

किसी भी तरह का सुझाव और सलाह आप हमें कमेंट के माध्यम से दे सकतें हैं. माता की भक्ति से संबंद्धित कमेंट को हम अपने साईट पर नाम के साथ प्रकाशित करेंगे.

Maa Chintpurni Aarti माँ चिंतपूर्णी आरती

Maa Baglamukhi Aarti माँ बगलामुखी आरती

Baglamukhi Mata Aarti Lyrics

Adhya Shakti Aarti Lyrics

Annapurna Aarti Lyrics

Annapurna Mata Ki Aarti अन्नपूर्णा माता की आरती

Ahoi Mata Ki Aarti अहोई माता की आरती

Know more about Goddess Durga from Wikipedia.

Leave a Comment