Gudi Padwa 2023 Date – गुढी पाडवा केव्हा आहे/गुड़ी पड़वा

Gudi Padwa 2023 Date – गुड़ी पड़वा 2023 – Maharashtra New Year – गुढी पाडवा केव्हा आहे?

नमस्कार www.hdhrm.com मध्ये तुमचे स्वागत आहे.

गुड़ी पड़वा का त्यौहार हिन्दू नव वर्ष जिसे नव-सवंत्सर भी कहा जाता है, के आरम्भ के उत्साव के रूप में मनाया जाता है. यह एक अत्यंत ही महत्वपूर्ण और पावन उत्सव है.

यह उत्सव मराठी नव वर्ष के शुरू होने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है. यह दिन सम्पूर्ण महाराष्ट्र के लोगों के लिए काफी आनंद और उत्सव का दिन होता है. देश के अन्य भागों में जहाँ कहीं भी मराठी समुदाय रहतें हैं. वहां वे इस उत्सव को अत्यंत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाते हैं.

हिंदू नववर्ष की शुरुआत इसी दिन से ही होती है. देश के अलग अलग भागों में इस दिन को अलग अलग नामों से उत्सव के रूप में मनाया जाता है.

ख़ास कर के महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा उत्सव काफी धूम धाम से मनाया जाता है.

Gudi Padwa 2023 Date

Gudi Padwa 2021

चैत्र माह की शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि से ही हिन्दू नववर्ष की शुरुआत मानी जाती है. प्रत्येक वर्ष इसी तिथि को ही गुड़ी पड़वा का उत्साव मनाया जाता है.

गुड़ी पड़वा का उत्सव इस साल यानी की 2023 में 22 मार्च 2023, बुधवार को मनाई जायेगी.

Gudi Padwa 2023 Date22 March 2023, Wednesday
गुड़ी पड़वा 202322 मार्च 2023, बुधवार

चलिए अब हम सब चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि की जानकारी

पंचांग के अनुसार चैत्र माह शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि से हिन्दू नववर्ष की शुरुआत होती है. निचे टेबल में हमने चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि प्रारंभ21 मार्च 2023, मंगलवार
10:52 pm
चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि समाप्त22 मार्च 2023, बुधवार
08:20 pm

चलिए अब हम सब जानतें हैं की किस गणना के अनुसार हिन्दू नववर्ष और गुड़ी पड़वा उत्सव मनाने की तिथि का निर्धारण किया जाता है.

Gudi Padwa Muhurt

गुड़ी पड़वा उत्सव और नववर्ष की तिथि के निर्धारण के लिए कुछ गणना की जाती है.

आप सबको बता दें की चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि जिस दिन प्रातः काल सूर्योदय के समय आरम्भ होती है. उसी दिन गुड़ी पड़वा मनाया जाता है.

यदि प्रतिपदा तिथि दो दिन पड़ रही हो तो प्रथम दिन अगर प्रतिपदा तिथि सूर्योदय के समय प्रारंभ हो रही हो तो प्रथम दिन ही नव वर्ष का आरम्भ माना जाता है.

अगर प्रथम दिन प्रतिपदा तिथि सूर्योदय के पश्चात आरंभ हो रही हो, प्रतिपदा तिथि जिस दिन को सूर्योदय के समय आरंभ हो उस दिन गुड़ी पड़वा का उत्सव मनाया जाता है.

अधिक मास की स्थिति में भी प्रथम चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि को ही आधार माना जाता है.

साल 2023 में चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि 21 मार्च 2023, मंगलवार को रात्री 10:52 pm से प्रारंभ हो रही है.

22 मार्च 2023, बुधवार को सूर्योदय के समय चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि पड़ रही है. इस कारण से 22 मार्च 2023, बुधवार को ही नववर्ष की शुरुआत और गुड़ी पड़वा उत्सव की तिथि निर्धारित की गई है.

गुड़ी पड़वा उत्सव के दिन लोग अपने घरों को अच्छे से सजातें हैं. आम के पत्तों और फूलों का इस्तेमाल घर को सजाने में किया जाता है. साथ ही रंगोली भी बनाई जाती है.

इस दिन लोग नए वस्त्र पहनते हैं. कई जगह इस दिन जुलुश भी निकाला जाता है.

गुड़ी पड़वा के दिन कई तरह के व्यंजन बनाए जातें हैं.

Gudi Padwa Information

ऐसी मान्यता है की इस दिन ब्रह्मा ने इस श्रृष्टि का निर्माण किया था. गुडी पड़वा के दिन ब्रह्मा जी की पूजा के पश्चात भगवान श्री विष्णु की पूजा की जाती है.

लोग सुख समृद्धि का वरदान अपने आराध्य देव से मांगते हैं.

आप सबको गुड़ी पड़वा की हार्दिक बधाई.

आज के इस पोस्ट में बस इतना ही. हमारे अन्य प्रकाशनों को भी देखें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.