Kaal Bhairava Jayanti 2022 काल भैरव जयंती 2022 भैरव अष्टमी

Kaal Bhairava Jayanti 2022 काल भैरव जयंती 2022 – काल भैरव जयंती को भैरव जयंती, भैरव अष्टमी आदि भी कहा जाता है.

भगवान शिव के उग्र रूप भगवान श्री काल भैरव की आराधना और स्तुति इस दिन की जाती है. इस दिन भैरव भगवान की जयंती मनाई जाती है.

इस संबंद्ध में कई कथाएं प्रचलित हैं. आप सबको बता दें की काल भैरव महादेव शिव के ही रूप है. जो की महादेव शिव के क्रोद्धित होने पर अवतरित हुए हैं.

काल भैरव की आराधना करने से मनुष्य के अंदर से भय नाश होता है और महादेव शिव की कृपा की प्राप्ति होती है. भगवान काल भैरव का वाहन कुत्ता है.

Batuk Bhairav Chalisa – श्री बटुक भैरव चालीसा का पाठ करें

आज के इस अंक में हम भगवान काल भैरव की जयंती किस दिन मनाई जायेगी पर चर्चा करेंगे.

Kaal Bhairava Jayanti 2022 काल भैरव जयंती 2022

आप सबको बता दें की काल भैरव जयंती, जिसे हम सब भैरव अष्टमी, भैरव जयंती, काल भैरव अष्टमी, कालाष्टमी भी कहतें हैं, यह मार्गशीर्ष महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है.

इस साल यानी की 2022 में काल भैरव जयंती 16 नवम्बर 2022 को मनाई जायेगी. इस दिन बुधवार है.

Kaal Bhairav Jayanti 2022 Date16-11-2022
काल भैरव जयंती 202216 नवम्बर 2022

Bhairav Chalisa – संकटों से बचने के लिए करें भैरव चालीसा पाठ

अब हम अष्टमी तिथि के प्रारम्भ और समाप्त होने के बारे में जान लेते हैं.

अष्टमी तिथि प्रारम्भ16 नवम्बर 2022
05 : 49 am
अष्टमी तिथि समाप्त17 नवम्बर 2022
07 : 57 am

आज के इस अंक में बस इतना ही. आप हमारे अन्य प्रकाशनों को भी एक बार अवस्य देखें.

भगवान श्री भैरव जी के बारे में और जाने विकिपीडिया से

Leave a Comment