Shardiya Navratri 2022 शारदीय नवरात्रि 2022

Shardiya Navratri 2022 Date शारदीय नवरात्रि 2022 तिथि के साथ किस दिन कौन सी माता की पूजा की जायेगी के बारे में जानकारी.

शारदीय नवरात्रि की शुरुआत आश्विन महीने की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से प्रारम्भ होती है और दशमी तिथि को विसर्जन की जाती है.

नवरात्रि की शुरुआत कलश स्थापना से की जाती है. कलश स्थापना से संबंद्धित एक पोस्ट हमने इस साईट पर प्रकाशित की हुई है. उस पोस्ट का लिंक निचे दिया गया है. आप इस पोस्ट को पढने के पश्चात उस पोस्ट को देख सकतें हैं.

Durga Puja Kalash Sthapana दुर्गा पूजा कलश स्थापना

चैत्र नवरात्री के बारे में जानने के लिए आप निचे दिए गए पोस्ट को देख सकतें हैं.

Chaitra Navratri चैत्र नवरात्रि

Shardiya Navratri 2022 Date शारदीय नवरात्रि 2022

जैसा की मैंने आप सब लोगों को बताया की शारदीय नवरात्री की शुरुआत आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से होती है और विसर्जन दशमी तिथि को की जाती है.

इस साल यानी की 2022 में शारदीय नवरात्रि 26 सितम्बर से शुरू होगी और विसर्जन 05 अक्टूबर 2022 को की जायेगी.

Shardiya Navratri 2022 Start Date26 September 2022
Dashmi05 Ocotber 2022
Shardiya Navratri 2021 Date

अब हम बात करतें हैं की किस दिन माता के कौन से रूप की पूजा की जायेगी.

तिथिमाता का रूपदिनांकदिन
आश्विन माह शुक्ल पक्ष प्रतिपदाशैलपुत्री माता26-09-2022सोमवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष द्वितीयाब्रह्मचारिणी माता27-09-2022मंगलवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष तृतीयाचंद्रघंटा माता28-09-2022बुधवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष चतुर्थीकुष्मांडा माता29-09-2022गुरुवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष पंचमीमाँ स्कंदमाता30-09-2022शुक्रवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष षष्ठी कात्यायनी माता01-10-2022शनिवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष सप्तमीकालरात्रि माता02-10-2022रविवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष अष्टमीमहागौरी माता03-10-2022सोमवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष नवमीसिद्धिदात्री माता04-10-2022मंगलवार
आश्विन माह शुक्ल पक्ष दशमीविजयादशमी05-10-2022बुधवार

नवरात्री का त्यौहार सम्पूर्ण भारत में अत्यंत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है. विदेशों में भी इस त्यौहार को काफी उल्लास के साथ मनाया जाता है.

माँ दुर्गा के नौ रूपों की आराधना श्रद्धा और भक्ति के साथ करने से मनुष्य को माँ की परम कृपा की प्राप्ति होती है. जीवन से नकारात्मकता का नाश होता है और सकारात्मकता आती है.

माँ दुर्गा से संबंद्धित कुछ अन्य प्रकाशनों को भी देखें.

Om Jai Ambe Gauri Aarti ॐ जय अम्बे गौरी आरती

Jay Adhya Shakti Aarti जय अध्य शक्ति आरती

Durga Aarti दुर्गा आरती

Mangal Ki Seva Sun Meri Deva मंगल की सेवा सुन मेरी देवा

Aarti Jag Janani Main Teri Gaun आरती जग जननी मैं तेरी गाऊँ

Jagdamba Mata Aarti जगदम्बा माता आरती

नोट : इस पोस्ट में दी गयी जानकारी पंचांग, कैलेंडर और ऑनलाइन उपलब्द्ध सामग्री पर आधारित है. इसमें कुछ भिन्नता हो सकती है. आप इसे अपने पंडित, पुरोहित या फिर ज्योतिष से सत्यापित अवस्य कर लें.

Leave a Comment