Aarti Balkrishna Ki Kije आरती बालकृष्ण की कीजै

Aarti Balkrishna Ki Kije आरती बालकृष्ण की कीजै – भगवान श्री कृष्ण के बाल रूप की आराधना और स्तुति करना बहुत ही आनंदित करने वाला अनुभव होता है. मन और ह्रदय में असीम शान्ति का अनुभव प्राप्त होता है.

सम्पूर्ण भक्ति भाव के साथ बालकृष्ण की आरती करें. उनकी स्तुति और आराधना करें. जय श्री कृष्णा.

Aarti Balkrishna Ki Kije आरती बालकृष्ण की कीजै

आरती बाल कृष्ण की कीजै,
अपनो जन्म सफल कर लीजै |

श्री यशोदा को परम दुलारो,
बाबा की अखियन को तारों,
गोपिन के प्राणन सों प्यारो |

इन पर प्राण न्योछावर कीजै,
आरती बालकृष्ण की कीजै |

बलदाऊ को छोटो भैया,
कलुआ कलुआ बोले या की मैया,
प्रेम मुदित मन लेत बलैयां |

यह छवि नैनन में भर लीजै,
आरती बालकृष्ण की कीजै |

तोतली बोली मधुर सुहावे,
सखा संग खेलत सुख पावे,
सोई सूक्ति जो इनको ध्यावे |

अब इनको अपना कर लीजै,
आरती बालकृष्ण की कीजै |

श्री राधा वर सुघड़ कन्हैया,
ब्रज जन को नवनीत खिवैया,
देखते ही मन लेत चुरैया |

अपना सर्वस्व इनको दीजे,
आरती बालकृष्ण की कीजै |

तोतरि बोलनि मधुर सुहावै,
सखन मधुर खेलत सुख पावै,
सोई सुकृति जो इनकूं ध्यावै |

अब इनकूं अपनों करि लीजै,
आरती बालकृष्ण की कीजै |

Aarti Balkrishna Ki Kije

Read more :

Jai Jai Shri Badrinath Aarti – जय जय श्री बद्रीनाथ आरती


Bhagwan Badrinath Ji Ki Aarti

Baba Ramdev Ji Ki Aarti


Baba Balak Nath Ji Ki Aarti

Aarti Sankat Hari Ki – आरती संकट हारी की

Aarti Karo Harihar ki – आरती करो हरिहर की

Shiv Ji Ki Aarti – शिव जी की आरती ॐ जय शिव ओमकारा

Leave a Comment