Radha Chalisa राधा चालीसा – कृष्ण की शक्ति राधा की करें वंदना

Radha Chalisa राधा चालीसा – श्री राधा जी की आराधना और स्तुति करना अत्यंत शुभ और मंगलकारी होता है.

श्री कृष्ण की भक्ति बिना राधे की भक्ति के बिना नहीं हो शक्ति है. श्री कृष्ण के नाम से पहले श्री राधा जी का नाम आता है. श्री कृष्ण की शक्ति है राधा.

राधा नाम में ही एक शक्ति है. एक जुडाव है, प्रेम है. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ श्री राधा जी की स्तुति करें. श्रद्धा और प्रेम से बोलिए राधे राधे.

Radha Chalisa राधा चालीसा

Radha Chalisa
Radha Chalisa
Radha Chalisa

Video source : YouTube

|| श्री राधा चालीसा ||

।। दोहा ।।

श्री राधे वुषभानुजा, भक्तनि प्राणाधार ।
वृन्दाविपिन विहारिणी , प्रणवो बारम्बार ।।

जैसो तैसो रावरौ, कृष्ण प्रिय सुखधाम ।
चरण शरण निज दीजिये सुन्दर सुखद ललाम ।।

।। चौपाई ।।

जय वृषभानु कुँवरी श्री श्यामा,
कीरति नंदिनी शोभा धामा ।

नित्य बिहारिनी रस विस्तारिणी,
अमित मोद मंगल दातारा ।।

राम विलासिनी रस विस्तारिणी,
सहचरी सुभग यूथ मन भावनी ।

करुणा सागर हिय उमंगिनी,
ललितादिक सखियन की संगिनी ।।

दिनकर कन्या कुल विहारिनी,
कृष्ण प्राण प्रिय हिय हुलसावनी ।

नित्य श्याम तुमररौ गुण गावै,
राधा राधा कही हरशावै ।।

मुरली में नित नाम उचारें,
तुम कारण लीला वपु धारें ।

प्रेम स्वरूपिणी अति सुकुमारी,
श्याम प्रिया वृषभानु दुलारी ।।

नवल किशोरी अति छवि धामा,
द्दुति लधु लगै कोटि रति कामा ।

गोरांगी शशि निंदक वंदना,
सुभग चपल अनियारे नयना ।।

जावक युत युग पंकज चरना,
नुपुर धुनी प्रीतम मन हरना ।

संतत सहचरी सेवा करहिं,
महा मोद मंगल मन भरहीं ।।

रसिकन जीवन प्राण अधारा,
राधा नाम सकल सुख सारा ।

अगम अगोचर नित्य स्वरूपा,
ध्यान धरत निशिदिन ब्रज भूपा ।।

उपजेउ जासु अंश गुण खानी,
कोटिन उमा राम ब्रह्मिनी ।

नित्य धाम गोलोक विहारिन ,
जन रक्षक दुःख दोष नसावनि ।।

शिव अज मुनि सनकादिक नारद,
पार न पाँई शेष शारद ।

राधा शुभ गुण रूप उजारी,
निरखि प्रसन होत बनवारी ।।

ब्रज जीवन धन राधा रानी,
महिमा अमित न जाय बखानी ।

प्रीतम संग दे ई गलबाँही,
बिहरत नित वृन्दावन माँहि ।।

राधा कृष्ण कृष्ण कहैं राधा,
एक रूप दोउ प्रीति अगाधा ।

Get your FREE Domain For Life with our hosting plans.

श्री राधा मोहन मन हरनी,
जन सुख दायक प्रफुलित बदनी ।।

कोटिक रूप धरे नंद नंदा,
दर्श करन हित गोकुल चंदा ।

रास केलि करी तुहे रिझावें,
मन करो जब अति दुःख पावें ।।

प्रफुलित होत दर्श जब पावें,
विविध भांति नित विनय सुनावे ।

वृन्दारण्य विहारिनी श्यामा,
नाम लेत पूरण सब कामा ।।

कोटिन यज्ञ तपस्या करहु,
विविध नेम व्रतहिय में धरहु ।

तऊ न श्याम भक्तहिं अहनावें,
जब लगी राधा नाम न गावें ।।

व्रिन्दाविपिन स्वामिनी राधा,
लीला वपु तब अमित अगाधा ।

स्वयं कृष्ण पावै नहीं पारा,
और तुम्हैं को जानन हारा ।।

श्री राधा रस प्रीति अभेदा,
सादर गान करत नित वेदा ।

राधा त्यागी कृष्ण को भाजिहैं,
ते सपनेहूं जग जलधि न तरिहैं ।।

कीरति हूँवारी लडिकी राधा,
सुमिरत सकल मिटहिं भव बाधा ।

नाम अमंगल मूल नसावन,
त्रिविध ताप हर हरी मनभावना ।।

राधा नाम परम सुखदाई,
भजतहीं कृपा करहिं यदुराई ।

यशुमति नंदन पीछे फिरेहै,
जी कोऊ राधा नाम सुमिरिहै ।।

रास विहारिनी श्यामा प्यारी,
करहु कृपा बरसाने वारी ।

वृन्दावन है शरण तिहारी,
जय जय जय वृषभानु दुलारी ।।

।। दोहा ।।

श्री राधा सर्वेश्वरी , रसिकेश्वर धनश्याम ।
करहूँ निरंतर बास मै, श्री वृन्दावन धाम ।।

भगवान श्री विष्णु की स्तुति करें – Vishnu Sahasranamam विष्णु सहस्रनाम

Shree Radha Rani Chalisa Lyrics

Shree Radha Rani Chalisa
Shree Radha Rani Chalisa

|| Radha Chalisa ||

|| DOHA ||

Shri Radhe Vushbhanuja, Bhaktani Pranadhar.
Vrindavipin Viharini, Pranwo Barambar.

Jaiso Taiso Ravrou, Krishn Priya Sukhdham.
Charan Sharan Nij Dijiye Sundar Sukhad Lalam.

|| CHOUPAI ||

Jay Vrishbhanu Kunvari Shri Shyama,
Kirti Nandini Shobha Dhama.

Nitya Biharini Ras Vistarini,
Amit Mod Mangal Datara.

Ram Vilasini Ras Vistarini,
Sahchari Subhag Yuth Man Bhavani.

Karuna Sagar Hiya Umangini,
lalitadik Sakhiyan Ki Sangini.

Dinkar Kanya Kul Viharini,
Krishn Praan Priya Hiya Hulsawni.

Nitya Shyam Tumraro Gun Gave,
Radha Radha Kahi Harshave.

Murli Me Nit Naam Uchare,
Tum Karan Lila Vapu Dhare.

Prem Swarupini Ati Sukumari,
Shyam Priya Vrishbhanu Dulari.

Naval Kishori Ati Chavi Dhama,
Dhuti Ladhu Lage Koti Rati Kama.

Gorangi Shashi Nindak Vandana,
Subhag Chapal Aniyare Nayana.

Javak Yut Yug Pankaj Charna,
Nupur Dhuni Pritam Man Harna.

Santat Sahchari Seva Karahi,
Maha Mod Mangal Man Bharahi.

Rasikan Jivan Pran Adhara,
Radha Naam Sakal Sukh Sara.

Agam Agochar Nitya Swarupa,
Dhyan Dharat Nishidin Braj Bhupa.

Upjeu Jaasu Ansh Gun Khani,
Kotin Uma Ram Brahmini.

Nitya Dham Golok Viharin,
Jan Rakshak Dukh Dosh Nasavani.

Shiv Aj Muni Sankadik Narad,
Paar Na Paayi Shesh Sharad.

Radha Shubh Gun Rup Ujari,
Nirakhi Prasan Hot Banwari.

Braj Jivan Dhan Radha Rani,
Mahima Amit Na Jaay Bakhani.

Pritam Sang De Ee Galbaanhi,
Bihrat Nit Vrindavan Maanhi.

Radha Krishn Krishn Kahe Radha,
Ek Rup Dou Priti Agadha.

Shri Radha Mohan Man Harani,
Jan Sukh Daayak Prafulit Badani.

Kotik Rup Dhare Nand Nanda,
Darsh Karan Hit Gokul Chanda.

Raas Keli Kari Tuhe Rijhawe,
Man Karo Jab Ati Dukh Pave.

Prafulit Hot Darsh Jab Pave,
Vividh Bhanti Nit Vinay Sunave.

Vrindaranya Viharini Shyama,
Naam Let Puran Kama.

Kotin Yagya Tapasya Karahu,
Vividh Nem Vrathiya Me Dharahu.

Tau Na Shyam Bhakatahi Ahnave,
Jab Lagi Radha Naam Na Gawe.

Vrindavipin Swamini Radha,
Lila vapu Tab Amit Agadha.

Swaym Krishn Paawe Nahi Para,
Aur Tumhe Ko Janan Hara.

Shri Radha Ras Priti Abheda,
Sadar Gaan Karat Nit Veda.

Radha Tyagi Krishn Ko Bhajihe,
Te Sapnehu Jag Jaladhi Na Tarihe.

Kirati Hunvari Ladiki Radha,
Sumirat Sakal Mitahi Bhav Badha.

Naam Amangal Mul Nasavan,
Trividh Taap Har Hari Manbhavna.

Radha Naam Param Sukhdaayi,
Bhajatahi Kripa Karahi Yadurai.

Yashumati Nandan Piche Phirehe,
Ji Kou Radha Naam Sumirihe.

Raas Viharini Shyama Pyari,
Karahu Kripa Barsane Vari.

Vrindavan Hai Sharan Tihari,
Jay Jay Jay Vrishbhanu Dulari.

|| DOHA ||

Shri Radha Sarveshwari, Rasikeshwar Dhanshyam.
Karahu Nirantar Baas Main, Shri Vrindavan Dhaam.

श्री राम जी की स्तुति करें – Ram Raksha Stotra राम रक्षा स्तोत्र

राधा चालीसा पाठ महत्व

  • राधा चालीसा का पाठ करना अत्यंत ही सुखदायक और शांति प्रदान करता है.
  • जीवन में प्रेम का संचार करता है.
  • राधा नाम लेने से ही मनुष्य का उद्धार हो जाता है.
  • जिन्हें श्री कृष्ण की भक्ति करनी है उन्हें राधा को नहीं बिसराना चाहिए.
  • जीवन में प्रेम और खुशहाली के लिए राधा चालीसा का नियमित पाठ करें.
  • वैवाहिक जीवन में प्रेम और सामंजस्य के लिए श्री राधा चालीसा का भक्तिपूर्वक पाठ करें.
  • जीवन मरण के चक्र को छोड़कर मोक्ष की प्राप्ति के लिए राधा के साथ श्री कृष्ण की आराधना करें.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी अवस्य देखें और लाभ उठायें.

Om Jai Jagdish Hare Aarti ॐ जय जगदीश हरे आरती
Shri Banke Bihari Ji Ki Aarti श्री बांके बिहारी जी की आरती

Bhagwat Bhagwan Ki Aarti भगवत भगवान की आरती

Vishnu Chalisa विष्णु चालीसा Shree Vishnu Bhagwan Chalisa

Shani Chalisa | शनि चालीसा | श्री शनि देव चालीसा

Surya Chalisa | सूर्य चालीसा – भगवान सूर्य देव की करें आराधना

Tulsi Chalisa | तुलसी चालीसा – नमो नमो तुलसी महारानी

Hanuman Chalisa in English Lyrics with PDF

हनुमान चालीसा हिंदी में | Hanuman Chalisa in Hindi

Lakshmi Chalisa | माता लक्ष्मी चालीसा

Leave a Comment