Pausha Putrada Ekadashi 2025 – पौष पुत्रदा एकादशी कब है? महत्व

Pausha Putrada Ekadashi 2025 – इस अंक में हम जानेंगे की पौष पुत्रदा एकादशी कब है? पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का पारण समय कब है? पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का क्या महत्व है? साथ ही पौष माह शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने का क्या समय है?

नमस्कार, सभी एकादशी व्रत करने वाले श्री विष्णु के भक्तों का हम hdhrm.com में हार्दिक अभिनंदन करतें हैं.

एकादशी व्रत श्री विष्णु भगवान को समर्पित एक अत्यंत ही महत्वपूर्ण व्रत है. प्रत्येक हिन्दू माह के शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को एकादशी व्रत किया जाता है.

प्रत्येक एकादशी व्रत का अपना धार्मिक महत्व है. साथ ही प्रत्येक एकादशी व्रत को अलग अलग नामों से जाना जाता है.

सभी एकादशी व्रत करने वालों के लिए यह एक महत्वपूर्ण सवाल है की एकादशी कब है?

हमने इस साईट पर सभी एकादशी व्रत से संबंद्धित प्रकाशन प्रकाशित किये हैं. हम इन प्रकाशनों को समय-समय पर अपडेट भी करतें रहतें हैं.

तो चलिए अब हम अपने टॉपिक पर आतें हैं और जानकारी प्राप्त करतें हैं की पौष पुत्रदा एकादशी कब है? (Pausha Putrada Ekadashi 2025)

Pausha Putrada Ekadashi 2025 – पौष पुत्रदा एकादशी कब है?

आप सभी भक्तजनों को ज्ञात होगा ही, फिर भी हम यहाँ जानकारी दे रहें हैं की पौष माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पौष पुत्रदा एकादशी व्रत किया जाता है.

इस वर्ष पौष पुत्रदा एकादशी व्रत तिथि के अनुसार दो बार है. प्रथम पौष पुत्रदा एकादशी व्रत 10 जनवरी 2025, शुक्रवार को है. तथा द्वितीय पौष पुत्रदा एकादशी व्रत 30 दिसम्बर, मंगलवार और 31 दिसम्बर, बुधवार को है.

आज के इस प्रकाशन में हम प्रथम पौष पुत्रदा एकादशी व्रत के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

Pausha Putrada Ekadashi 202510 January 2025, Friday
पौष पुत्रदा एकादशी 202510 जनवरी 2025, शुक्रवार

चलिए अब हम सब पौष शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी प्राप्त करतें हैं.

पौष शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि

जैसा की आप सभी श्रद्धालु गण को ज्ञात है की पौष माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पौष पुत्रदा एकादशी व्रत किया जाता है. इस कारण से पौष माह शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि का बहुत अधिक धार्मिक महत्व हमारे धर्मग्रन्थ में बताया गया है.

ChemiCloud's Black Friday & Cyber Monday Deals are Here!

हमने यहाँ टेबल के माध्यम से पौष माह शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

पौष शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि प्रारंभ09 जनवरी 2025, गुरुवार
12:22 pm
पौष शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि समाप्त10 जनवरी 2025, शुक्रवार
10:19 am

अब हम पौष पुत्रदा एकादशी व्रत के पारण समय की जानकारी प्राप्त करतें हैं.

पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का पारण समय (Paush Putrada Ekadashi Parana Time)

इस वर्ष के पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का पारण 11 जनवरी 2025, शनिवार को है. समय की जानकारी हमने निचे टेबल में दी हुई है.

द्वादशी तिथि 11 जनवरी 2025, शनिवार को 08:21 am को समाप्त होगी.

पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का पारण समय11 जनवरी 2025, शनिवार
07:15 am – 08:21 am

ऊपर दिया हुआ पारण का समय शुभ माना गया है.

पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का महत्व (Importance of Pausha Putrada Ekadashi Vrat)

आप सबकी जानकारी के लिए संक्षेप में बताना चाहूँगा की पौष पुत्रदा एकादशी व्रत से एक दिन पहले व्रती को सात्विक भोजन करना चाहिए. ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए. शरीर और ह्रदय को शुद्ध रखना चाहिए.

एकादशी तिथि के दिन प्रातः काल में स्नान आदि करके खुद को स्वच्छ और पवित्र कर लें. उसके पश्चात व्रत का संकल्प लें.

भगवान श्री विष्णु की नियमानुसार पूजा करें.

पारण तिथि को प्रातः काल स्नान आदि करने के पश्चात भगवान श्री विष्णु की विधिवत पूजा करें. किसी ब्राह्मण को भोजन करवाएं. गरीबों, निर्धनों को धन दक्षिणा देने के पश्चात पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का पारण करें.

चलिए अब हम पौष पुत्रदा एकादशी व्रत के महत्व को संक्षेप में जान लेतें हैं.

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पौष पुत्रदा एकादशी व्रत करने से निःसंतान दम्पति को संतान की प्राप्ति होती है.
  • लोगों में ऐसी मान्यता है की पौष पुत्रदा एकादशी व्रत को श्रद्धा और भक्तिपूर्वक करने से दम्पति को पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है.
  • निःसंतान दम्पति को संतान की इच्छा से अगर पौष पुत्रदा एकादशी व्रत कर रहें हैं तो व्रत के दिन संतान गोपाल मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिय.
  • वैसे तो कोई भी एकादशी व्रत करने से मनुष्य को भगवान श्री विष्णु की परम कृपा की प्राप्ति होती है.
  • इस वर्त को करने से मनुष्य को श्री विष्णु भगवान की परम कृपा की प्राप्ति होती है.
  • मोक्ष का द्वार उस श्रद्धालु के लिए खुल जाता है.
  • पौष पुत्रदा एकादशी व्रत का विशेष महत्व संतान प्राप्ति के लिए ही माना गया है.
पौष पुत्रदा एकादशी व्रत कब किया जाता है?

आप सबको बताना चाहेंगे की पौष माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पौष पुत्रदा एकादशी व्रत किया जाता है.

हमने इस प्रकाशन में पौष पुत्रदा एकादशी व्रत से संबंद्धित सम्पूर्ण जानकारी को संक्षेप में देने का प्रयास किया है. आशा है की आप सबको इस प्रकाशन से सभी जानकारी प्राप्त हो गई होगी.

आप अपने विचार हमें कमेंट में अवश्य लिखें. कमेंट के लिए वेबसाइट का नाम लिखना आवश्यक नही है.

हमारे कुछ और प्रकाशन –

EKADASHI KI AARTI – एकादशी की आरती (एकादशी व्रत की आरती)

Vishnu Chalisa विष्णु चालीसा Shree Vishnu Bhagwan Chalisa

Om Jai Jagdish Hare Aarti ॐ जय जगदीश हरे आरती 

Shri Ram Chalisa | श्री राम चालीसा – प्रभु श्रीरामचंद्र की कृपा पायें

Krishna Chalisa कृष्ण चालीसा – श्री कृष्णा चालीसा

Shri Krishna Ji Ki Aarti श्री कृष्ण जी की आरती

ChemiCloud - Excellent Web Hosting Services

Leave a Comment