Vijaya Ekadashi 2025 | विजया एकादशी कब है? पारण का समय, Importance

Vijaya Ekadashi 2025 – इस अंक में हम सब जानेंगे की विजया एकादशी कब है? विजया एकादशी व्रत कब किया जायेगा? फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि कब प्रारंभ हो रही है? तथा फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि कब समाप्त हो रही है? साथ ही विजया एकादशी व्रत का पारण कब है? विजया एकादशी व्रत का क्या महत्व है?

नमस्कार, सभी भगवान श्री विष्णु के भक्तों का हम hdhrm.com में ह्रदय से स्वागत कर रहें हैं.

आप इस प्रकाशन को पढ़ रहें हैं, इसका अर्थ है की आपकी भगवान श्री विष्णु में अगाध श्रद्धा है. आप एकादशी व्रत के बारे में जानने के लिए उत्सुक है.

हम इस साईट पर सभी एकादशी व्रत के बारे में पोस्ट प्रकाशित कर रहें हैं.

विजया एकादशी व्रत का हमारे हिन्दू धर्म में अत्यंत ही धार्मिक महत्व प्रदान किया गया है. हमारे धार्मिक ग्रंथो में विजया एकादशी व्रत का जिक्र किया गया है.

भगवान प्रभु श्रीराम जी ने भी विजया एकादशी व्रत किया था. इस व्रत के प्रभाव के कारण प्रभु श्रीराम जी को रावण पर विजय प्राप्त हुई थी. इस कारण से इस एकादशी व्रत को विजया एकादशी व्रत कहा जाता है.

विजया एकादशी व्रत को श्रद्धा और भक्तिपूर्वक संपन्न करने से साधक को तो इस व्रत का पूण्य फल प्राप्त होता ही है. साथ ही साधक के पूर्वजों को भी इस व्रत का पूण्य फल प्राप्त होता है. साधक के पितरों को कुयोनी से मुक्ति मिलती है और उनके मुक्ति का, मोक्ष का द्वार प्रशस्त होता है.

इस कारण से विजया एकादशी व्रत अत्यंत ही महत्वपूर्ण व्रत है. आप इस व्रत को कर रहें हैं. आप अत्यंत ही पूण्य का कार्य कर रहें हैं. हमारी भगवान श्री विष्णु से प्रार्थना है की आप पर श्री विष्णु की परम कृपा हमेशा बनी रहे.

तो चलिए अब हम इस प्रकाशन के मुख्य बिंदु पर आते हैं और जानतें हैं की साल 2025 में विजया एकादशी कब है? (Vijaya Ekadashi 2025).

Vijaya Ekadashi 2025 | विजया एकादशी कब है?

सबसे पहले हम अत्यंत विनम्रतापूर्वक बताना चाहेंगे की विजया एकादशी व्रत फाल्गुन माह की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को किया जाता है.

इस वर्ष अर्थात 2025 में विजया एकादशी व्रत 24 फ़रवरी 2025, सोमवार को किया जायेगा.

Vijaya Ekadashi 202524 February 2025, Monday
विजया एकादशी 202524 फ़रवरी 2025, सोमवार

इस दिन सप्तान्न के द्वारा भगवान श्री विष्णु की पूजा अर्चना करनी चाहिए. विष्णु सहस्रनाम का पाठ करना अत्यंत ही शुभ माना गया है.

तो श्रद्धालुगण चलिए अब हम सब फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि की जानकारी

जैसा की हमने आप सब लोगों को ऊपर बताया है की फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि को विजया एकादशी व्रत किया जाता है. इस कारण से फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि का बहुत अधिक धार्मिक महत्व हो जाता है.

यहाँ हमने टेबल के माध्यम से फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय की जानकारी दी हुई है.

फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि प्रारंभ23 फ़रवरी 2025, रविवार
01:55 pm
फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि समाप्त24 फ़रवरी 2025, सोमवार
01:44 pm

अब हम विजया एकादशी व्रत के पारण के समय की जानकारी प्राप्त कर लेतें हैं.

विजया एकादशी व्रत का पारण कब है?

फाल्गुन कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि को किये जाने वाले व्रत विजया एकादशी व्रत इस वर्ष 24 फ़रवरी 2025, सोमवार को किया जाएगा. विजया एकादशी व्रत का पारण 25 फ़रवरी 2025, मंगलवार को किया जाएगा.

निचे टेबल में हमने विजया एकादशी व्रत 2025 के पारण के समय की जानकारी दी हुई है.

विजया एकादशी व्रत का पारण25 फ़रवरी 2025, मंगलवार
06:50 ए एम् – 09:08 ए एम्
Vijaya Ekadashi 2025 Parana Time25 February 2025, Tuesday
06:50 am – 09:08 am

Importance of Vijaya Ekadashi – विजया एकादशी व्रत का महत्व

  • धार्मिक ग्रंथो में विजया एकादशी का बहुत अधिक धार्मिक महत्व का विवरण है.
  • प्रभु श्रीराम जी ने भी विजया एकादशी का व्रत किया था.
  • धार्मिक मान्यता है की जो कोई भी श्रद्धा और भक्तिपूर्वक विजया एकादशी व्रत करता है उसे भगवान श्री विष्णु की परम कृपा की प्राप्ति होती है.
  • भगवान श्री विष्णु की कृपा से मनुष्य इस धरा के सुखों का भोग करता है और मृत्युपरांत मोक्ष को प्राप्त करता है.
  • विजया एकादशी के संबंद्ध में ऐसी धार्मिक मान्यता है की विजया एकादशी करने वालों के पित्रों को भी मुक्ति प्रदान करता है.

विजया एकादशी व्रत कब किया जाता है?

फाल्गुन माह की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को विजया एकादशी व्रत किया जाता है.

आज के इस प्रकाशन को हम यहीं समाप्त कर रहें हैं. आशा है की आपको इस प्रकाशन से कुछ धार्मिक जानकारी प्राप्त हुई होगी. आप अपने विचार हमें कमेंट में अवश्य लिखें.

कुछ और महत्वपूर्ण प्रकाशन –

EKADASHI KI AARTI – एकादशी की आरती (एकादशी व्रत की आरती)

Vishnu Chalisa विष्णु चालीसा Shree Vishnu Bhagwan Chalisa

Shri Ram Chalisa | श्री राम चालीसा

Shri Krishna Ji Ki Aarti श्री कृष्ण जी की आरती

Om Jai Jagdish Hare Aarti ॐ जय जगदीश हरे आरती

एकादशी व्रत से संबंद्धित जानकारी –

Shri Sanjay Ji

All the post of this site are written and managed by Shri Sanjay Ji. इस साईट की सभी प्रकाशन श्री संजय जी के द्वारा लिखी और मैनेज की जाती है.

Leave a Reply